Tuesday, September 20, 2016

पीले पन्नो वाली किताब


पीले पन्नो वाली एक किताब में
कई दिलकश अफ़साने दर्ज है
दिल के सबसे निचले कोने में
जिनका गुमनाम आदाब अर्ज है

बीच के मोटे दस्तावेजो में कैद
बेशुमार फैसलों की ख्वाइश है
और सबसे ऊपर की डायरी में
शिकायतों की लम्बी नुमाइश है

ख्वाइशों और नुमाईशो का बोझ
सर से हटने की देर है
पीले पन्नो के अफ़साने
यादगार तराने बन जायेंगे
दिल से जुबा पर आकर
महफ़िलो के नए दौर सजायेंगे

© सुधीर रायकर
रात के पिछले पहर






Don't let public transit make Chicago a Go or No Go

A wild Garlic named Chicagoua grew here in abundance once, which is believed to have given the windy city its legendary name. Probably th...